Thursday, July 13, 2017

SANAKPAN KI BIMARI

सनक एक प्रकार की मानसिक बिमारी होती है क्योँकि ऐसे व्यक्ति को पता ही नहीं होता की वो क्या कर रहा है और वो सनक में कुछ ना कुछ करता ही रहता है उसको उस कार्य के भले बुरे का ज्ञान नहीं होता ,वो समझता है कि  जो वो कर रहा है बस वही ठीक है ,दुसरे वो खुद को विद्वान् और अन्य को पागल समझता है जब कि  होता है ठीक इसका उलटा
हमारे देश में वर्तमान मै बहुत से ऐसे व्यक्ति हैं जो सब कुछ ऐसा ही कर रहे हैंपरन्तु जनता उनको सनकी सठिया ,पागल निरंकुश कहकर अपनी आत्मा को मार लेती है और सबकुछ हारे हुए जुआरी की भांति सहन करती रहती है |  

BHAGWAN NE MODI JI K SAATH JO BHI KIYA ACHCHHA HI KIYA

कहते हैं कि भगवन जो करते हैं वो अच्छा ही करते हैं और उन्होंने मोदी जी के साथ भी अच्छा ही किया ,शादी करवा देने के बावजूद उनको ऐसी मति नहीं दी की वो कुछ बच्चे पैदा करते ,
क्योँकि जिस प्रकार की उठा पटक वो आज देश में कर रहे हैं ,शांति होने नहीं दे रहे ,एक दूसरों को लड़ा रहे हैं ,बीफ खुद एक्सपोर्ट करवा रहे हैं और गाय को पीटने या मरने के नाम पर मुस्लिमों को पिटवा रहे हैं बजरंग दाल वालों से जो की भाजपा का एक अभिन्न अंग है ,जनता के घरों में राशन पानी, गैससब कुछ नोटबंदी और जी एस टी के कारण आना बंद होता जा रहा है ,देश भिखारियों जैसा होता जा रहा है जिससे भी पूछो एक ही बात कोई काम ही नहीं हैं खर्चे ही खर्चे हैं ,
तो स्वाभाविक सी बात है की मोदी जी अपने परिवार में मुखिया होने के नाते ऐसे ही उलटे पुल्टे काम करते रहते तो अब तक इनके बेटे पोते ,बेटियां बहुऍं ,पतोहि मोदी जो को घर से बाहर निकाल कर फेंक देते ,इसलिए भगवन ने इनको बच्चे भी न नहीं  दिए क्योँकि वो आदमी फितरत जानता है
और एक हम देशवासी हैं जैसे ही  वो कहते हैं वैसे ही मुर्गा बन जाते हैं और कान पकड़ लेते हैं और एक अच्छे शिष्य की भांति बिना उड्डंदता के सब कुछ सहते रहते हैं |  

kya bhartiya janta ko

क्या हम भारतीय, मोदी राज में ऐसे ही सिसक सिसक कर प्रीतिदिन मरते और जीते रहेंगे ,क्या हमने अपना वोट मोदी सरकार को देकर अपने सभी मौलिक अधिकार उनके पास गिरवी रख दिए हैं क्या ये ही लोकतंत्र है जिसमे मानवाधिकारों का कोई मूल्य नहीं बचा है ,
रात को सोने से पूर्व मोदी जी नोटबंदी कर देते हैं ,जिसपर जितने पैसे होते हैं वो प्राय सरकारी हो जाते हैं ,अमीरों को फर्क पड़े या ना पड़े परन्तु गरीब के नेफे में दुबके रूपये  तो खत्म हो गए जिनको वो कल मनी आर्डर करने के लिए जाने वाला था ,गाँव में बच्चे भूख से तड़प तड़पकर मर गएपर मोदी जी को क्या उनके कौन से बच्चे हैं जो उनका दुःख दर्द जान पाएं ,
रात को  १२ बजे जी एस टी लगाकर ऐसे जश्न मना रहे हैं जैसे की पाक को या चीन को फतह कर लिया हो ,वह रे मोदी सरकार तुम्हारा भी जवाब नहीं
अभी योगी राज ने मोदी जी के इशारे पर बच्चे कम पैदा करने का आह्वान कर दिया है यदि खुद नहीं करेंगे तो नसबंदी का ऐलान हो जाएगा ,सुबह को सोकर उठेंगे तो पहले अस्पताल जाना पड़ेगा नसबंदी कराने ,
महंगाई के कारण लोग टमाटर को सेब समझकर खा लेते थे अब वो भी ७५ रूपये हो गया तो बेचारी जनता क्या खायेगी ,
हो सकता है ये हमारे पिछले जन्म में किये कुछ कर्मों का फल हो की मोदी राज में ५ साल यतीमों की भांति गुजरने पड़ेंगे | 

Wednesday, July 12, 2017

ABHAAGI JANTA DEVI ,PADHKAR TO DEKHIYE SHAYAD KUCHH MAJA AA JAAYE

जज साहब अगला मुकदमा किसका है बोलिये
तभी एक स्त्री  खड़ी होकर बोली,जज साहब मेरा नाम जनता देवी है ,मैंने आज से लगभग ३ साल पहले किसी मर्द से शादी की थी ,
वो मुझसे इतनी मुहब्बत करता था की मैं क्या बताऊँ ,मीठी मीठी बातें करता था ,मिठाइयां खिलाने और संसार की सैर कराने ,आसमान से तारे तोड़कर लाने और सभी प्रकार के कष्टों से छुटकारा दिलवाने और लाखों रुपया मेरे खाते में जमा कराने प्रतिदिन चॉकलेट खिलाने ,नए नए कपडे मुझे सलवाकर देने और मेरे घर को आलिशान बनवाने और विदेशी टॉयलेट बनवाने की बातें करता था तो मैंने समझा की इससे अच्छा और जवान और ५६ इंची सीना रखने वाला मर्द ,प्रेम करने वाला गबरू इस पूरे देश में और कहाँ से मिलेगा इसलिए मैंने उसके सामने समर्पण कर दिया और जो कुछ भी मेरे अधिकार थे वो सब उसको सौंप दिया और मै  दिल से उसकी हो गई ,
परन्तु जज साहब उस मेरे मर्द ने मुझे कुछ ही दिन बाद अपना असली रूप दिखाने लगा ,हमेशा झूठ बोलना ,लम्बी लम्बी फेंकना ,सबसे पंगा लेना ,और खाने के नाम पर दाल भाजी भी ना खिलाना क्योँकि अब वो कहने लगा की महंगी हो गई है इसलिए ,मिठाई आदि की तो बात छोड़िये मीठी मीठी बातें भी करनी बंद कर दी और अब तो उसका हाल ये है की तलाक़ की बातें करता है ,रात रात भर जागती हूँ परन्तु वो घर ही नहीं आता, पता चला है की वो विदेशों में ही घूमता रहता है,
मैं तो कहीं की भी नहीं रही जज साहब अब बताओ मैं क्या करूँ ,तालाक की बातें तो करता है पर तलाक़ भी नहीं देता कहता है २०२४ तक तो तुझे घर में रखूंगा ही
जज साहब मेरा फैसला का दीजिये कहीं ऐसा ना हो की वो यहां आकर आपको भी ना धमका दे और मेरा फैसला बीच में ही अटका रह जाए ,लोग कहते हैं की उसकी राजनीति में बहुत पहुँच है

अभागी जनता देवी   

U P A & BHAJPA SARKAR MAHNGAI

अब से ३ साल पहले की यु पी ऐ सर्कार के वक्त की महंगाई की बातें करते हैं तो सांसें चलती तो रहती हैं, परन्तु वर्तमान सर्कार भाजपा या मोदी सर्कार के इस वक्त की महंगाई के बारे में सोचते हैं, तो साँसे रुक जाती हैं और मुए दिल से बस हाय हाय ही निकलती है, ना निवाला सटका जाता है और नाहीं बाहर निकाला जा सकता है करें भी तो क्या करें  

Tuesday, July 11, 2017

MEETHA JAHAR

हमारे देश में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी प्रत्येक माँ बाप चाहे पढ़ा लिखा हो या अनपढ़ ,अपने छोटे छोटे बच्चों को जब स्कूल या कहीं बाहर घूमने भेजते हैं तो कहते हैं बेटा बाहर कोई भी व्यक्ति तुमको मीठा मीठा बोले ,या प्यार करे अथवा खाने को लॉलीपॉप दे तो भी तुम उसके कहने में ना आना क्योँकि मीठा मीठा बोलने वाला और मीठी मीठी चीजे देने वाला हमेशा बुरे लोग ,या बदमाश होते हैं बच्चों को उठा कर ले जाते हैं आदि आदि तरीके से समझाते हैं ,
फिर भी कितनी मजे की बात है कि ऐसे ही लोग जो प्रतिदिन अपने बच्चों को यही सबकुछ सिखाते हैं फिर भी अब से लगभग ३ साल पहले एक व्यक्ति की मीठी मीठी बातों में आकर और लोल्ली पॉप खिलाने का वायदा कर या अच्छे दिन आएंगे ,या तुम मुझे वोट दो मै  तुम्हारी तकदीर बदल दूंगा  प्रत्येक को १५, १५ लाख रुपया दूंगा आदि आदि जैसी बातों में आकर अपना सर्वस्व लुटा दिया और आज यतीमों जैसी जिंदगी बसर कर रहे हैं कभी नोटबंदी ,तो कभी जी एस टी ,ाकभी देश में झगडे ,कभी कुछ कभी कुछ ,मेरे हिसाब से तो पिछले ३ सालों में शायद ही किसी भारतवासी ने खुशनुमा जिंदगी जी होगी ,
और अभी भी इतना सबकुछ हीओने के बाद भी लगभ्ग ३२ %  अंध भक्त तो अभी भी खुद को और अपने बच्चों को अँधेरे  में रखे हुए हैं | 

PAYJAME ME 36 CHHED

जब देश की जनता बिना सोचे समझे या जानबूझकर ऐसे नेताओं की देश में सरकार खड़ा कर देगी और प्रधानमंत्री भी बना देगी जिनके पायजामे में पहले से ही ३६ छेद हुए हैं तो फिर उस देश का वैसा ही हाल होगा जैसा कि आज हमारे देश का हो रहा है |